चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 60

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 60
296 : - कार्य का स्वरुप निर्धारित हो जाने के बाद वह कार्य लक्ष्य बन जाता है।
297 : - अस्थिर मन वाले की सोच स्थिर नहीं रहती।
298 : - कार्य के मध्य में अति विलम्ब और आलस्य उचित नहीं है।
299 : - कार्य-सिद्धि के लिए हस्त-कौशल का उपयोग करना चाहिए।
300 : - भाग्य के विपरीत होने पर अच्छा कर्म भी दुखदायी हो जाता है।

Also, Read
Swami Vivekananda
Good Morning
Chanakya Niti

Chanakya Quotes in Hindi
Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 29

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 29

141 : - वे माता-पिता अपने बच्चों के लिए शत्रु के समान हैं, जिन्होंने बच्चों

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 120

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 120

chanakya niti for motivation 596 : - स्त्रियों का मन क्षणिक रूप से स्थिर होता

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 58

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 58

286 : - निर्बल राजा की आज्ञा की भी अवहेलना कदापि नहीं करनी चाहिए। 286

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti भाग 139

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti भाग 139

Chanakay Niti 691 : - दिन में सोने से आयु कम होती है। 691 :

बुद्धिमान लोगों की 5 बातें  || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 65

बुद्धिमान लोगों की 5 बातें || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 65

Chaanaky Ke Anamol Vichaar 321 : - हे बुद्धिमान लोगों ! अपना धन उन्ही को

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 137

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 137

681 : - सज्जन दुर्जनों में विचरण नही करते। 681 : - sajjan durjanon mein