चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 55

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 55
271 : - ईर्ष्या करने वाले दो समान व्यक्तियों में विरोध पैदा कर देना चाहिए।
272 : - चतुरंगणी सेना (हाथी, घोड़े, रथ और पैदल) होने पर भी इन्द्रियों के वश में रहने वाला राजा नष्ट हो जाता है।
273 : - जुए में लिप्त रहने वाले के कार्य पूरे नहीं होते है।
274 : - शिकारपरस्त राजा धर्म और अर्थ दोनों को नष्ट कर लेता है।
275 : - शराबी व्यक्ति का कोई कार्य पूरा नहीं होता है।

Also, Read
Swami Vivekananda
Good Morning
Chanakya Niti

chanakya niti for motivation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

नीच व्यक्ति से यह सीखना चाहिए || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 100

नीच व्यक्ति से यह सीखना चाहिए || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 100

Chaanaky Ke Anamol Vichaar 496 : - मलेच्छ अर्थात नीच व्यक्ति की भी यदि कोई

पाप कर्म करने वाले को || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 77

पाप कर्म करने वाले को || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 77

Chanakya Neeti In Hindi 381 : - मछेरा जल में प्रवेश करके ही कुछ पाता

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 41

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 41

201 : - आग में आग नहीं डालनी चाहिए। अर्थात क्रोधी व्यक्ति को अधिक क्रोध

चाणक्य के अनमोल विचार –  Chanakya Niti Motivation भाग 132

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti Motivation भाग 132

656 : - शास्त्रों के न जानने पर श्रेष्ठ पुरुषों के आचरणों के अनुसार आचरण

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 48

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 48

236 : - भविष्य के अन्धकार में छिपे कार्य के लिए श्रेष्ठ मंत्रणा दीपक के

अविश्वसनीय लोगों पर विश्वास || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 78

अविश्वसनीय लोगों पर विश्वास || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 78

Chanakya Neeti In Hindi 386 : - अविश्वसनीय लोगों पर विश्वास नहीं करना चाहिए। 386