चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 53

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 53
261 : - बलवान से युद्ध करना हाथियों से पैदल सेना को लड़ाने के समान है।
262 : - कच्चा पात्र कच्चे पात्र से टकराकर टूट जाता है।
263 : - संधि और एकता होने पर भी सतर्क रहे।
264 : - शत्रुओं से अपने राज्य की पूर्ण रक्षा करें।
265 : - शक्तिहीन को बलवान का आश्रय लेना चाहिए।

chanakya niti for mo

Also, Read
Swami Vivekananda
Good Morning
Chanakya Niti

tivation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 24

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 24

 116 : - पराई स्त्री के साथ व्यभिचार करने वाला, गुरु और देवालय का धन

स्त्री के बारे में क्या कहते है चाणक्य || चाणक्य नीति chanakya niti || 102

स्त्री के बारे में क्या कहते है चाणक्य || चाणक्य नीति chanakya niti || 102

Chaanaky Ke Anamol Vichaar 506 : - स्त्री के प्रति आसक्त रहने वाले पुरुष को

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 13

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 13

chanakya video 61 : - काम मनुष्य का सबसे बड़ा रोग है. अज्ञान या मोह

किस के अनुसार उत्तर दे चाणक्य || चाणक्य नीति chanakya niti || 104

किस के अनुसार उत्तर दे चाणक्य || चाणक्य नीति chanakya niti || 104

Chaanaky Ke Anamol Vichaar 516 : - अपराध के अनुरूप ही दंड दें। 516 :

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 128

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti Motivation भाग 128

chanakya niti for motivation 636 : - एरण्ड वृक्ष का सहारा लेकर हाथी को अप्रसन्न

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 52

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 52

256 : - आवाप अर्थात दूसरे राष्ट्र से संबंध नीति का परिपालन मंत्रिमंडल का कार्य