Swami vivekananda motivational quotes in hindi

Swami vivekananda motivational quotes in hindi

Swami vivekananda motivational quotes in hindi

अगर कोई पाप है, तो वो यही है; ये कहना कि तुम निर्बल हो या अन्य निर्बल हैं|
agar koee paap hai, to vo yahee hai; ye kahana ki tum nirbal ho ya any nirbal hain| 
तुम फ़ुटबाल के जरिये स्वर्ग के ज्यादा निकट होगे बजाये गीता का अध्ययन करने के
tum futabaal ke jariye svarg ke jyaada nikat hoge bajaaye geeta ka adhyayan karane ke 
मन की दुर्बलता से अधिक भयंकर और कोई पाप नहीं है।
man kee durbalata se adhik bhayankar aur koee paap nahin hai. 

“Swami Vivekananda Suvichar in Hindi″

पक्षपात सब बुराइयों की जड़ है |
pakshapaat sab buraiyon kee jad hai | 
हिंदू संस्कृति आध्यात्मिकता की अमर आधारशिला पर आधारित है।
hindoo sanskrti aadhyaatmikata kee amar aadhaarashila par aadhaarit hai. 

– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda Quotes in Hindi)

भय ही पतन और पाप का निश्चित कारण है |
bhay hee patan aur paap ka nishchit kaaran hai | 
किसी दिन , जब कभी आपके सामने कोई भी समस्या ना आये तो आप सुनिश्चित हो सकते हैं कि आप गलत मार्ग पर चल रहे हैं |
kisee din , jab kabhee aapake saamane koee bhee samasya na aaye to aap sunishchit ho sakate hain ki aap galat maarg par chal rahe hain.

– स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda)

ब्रह्माण्ड की सारी शक्तियां पहले से हमारी हैं| वो हमीं हैं जो अपनी आँखों पर हाँथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अन्धेरा है|
brahmaand kee saaree shaktiyaan pahale se hamaaree hain| vo hameen hain jo apanee aankhon par haanth rakh lete hain aur phir rote hain ki kitana andhera ha.
जितना अध्ययन करते हैं, उतना ही हमें अपने अज्ञान का आभास होता जाता है |
jitana adhyayan karate hain, utana hee hamen apane agyaan ka aabhaas hota jaata hai.
आदर्श, अनुशासन, मर्यादा, परिश्रम, ईमानदारी तथा उच्च मानवीय मूल्यों के बिना किसी का जीवन महान नहीं बन सकता है|
aadarsh, anushaasan, maryaada, parishram, eemaanadaaree tatha uchch maanaveey moolyon ke bina kisee ka jeevan mahaan nahin ban sakata hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

सफलता का आनंद उठाने के लिए | Swami Vivekananda |

सफलता का आनंद उठाने के लिए | Swami Vivekananda |

‘आप ही अपने भाग्यविधाता है’. यह बात ध्यान में रखकर कठोर परिश्रम पुरुषार्थ में लग जाना चाहिये। ‘You are your luck’. Keeping this in mind, hard work should be done

उसे पाने का एक ही |  Swami Vivekananda |

उसे पाने का एक ही | Swami Vivekananda |

यदि उपनिषदों से बम की तरह आने वाला और बम गोले की तरह अज्ञान के समूह पर बरसने वाला कोई शब्द है तो वह है ‘निर्भयता’ If there is a

हम वो हैं जो हमें हमारी |  Swami Vivekananda |

हम वो हैं जो हमें हमारी | swami vivekananda quotes hindi |

हम वो हैं जो हमें हमारी सोच ने बनाया है, इसलिए इस बात का धयान रखिये कि आप क्या सोचते हैं। शब्द गौण हैं. विचार रहते हैं, वे दूर तक