‪‎मोहब्बत‬ सच्ची करता था मुझसे

‪‎मोहब्बत‬ सच्ची करता था मुझसे

 

कभी ना कभी वो मेरे बारे में सोचेगी जरूर ,😘😘🌹🍂🍃
कि हासिल होने की उम्मीद ना थी मेरी,,🌹🎋 ,
फिर भी ‪‎मोहब्बत‬ सच्ची करता था मुझसे,,…!!!🥰🥰

Also, Read
Swami Vivekananda
Good Morning
Chanakya Niti

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 135

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 135

671 : - दुर्वचनों से कुल का नाश हो जाता है। 671 : - durvachanon

पराया व्यक्ति यदि हितैषी हो तो || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 90

पराया व्यक्ति यदि हितैषी हो तो || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 90

446 : - स्वजनों की सीमा का अतिक्रमण न करें। 446 : - svajanon kee

विचार न करके कार्ये || चाणक्य नीति chanakya niti || 67

विचार न करके कार्ये || चाणक्य नीति chanakya niti || 67

331 : - जो अपने कर्तव्यों से बचते है, वे अपने आश्रितों परिजनों का भरण-पोषण

जहाँ पाप होता है || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 88

जहाँ पाप होता है || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 88

chanakya niti for success in life in hindi 436 : - धर्म के द्वारा ही

हम वो हैं जो हमें हमारी |  Swami Vivekananda |

हम वो हैं जो हमें हमारी | swami vivekananda quotes hindi |

हम वो हैं जो हमें हमारी सोच ने बनाया है, इसलिए इस बात का धयान

फिर मुलाक़ात होगी

फिर मुलाक़ात होगी

अभी के लिए सो जाओ कल फिर मुलाक़ात होगी , लबो से ना सही तो