चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti in Hindi भाग 148

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti in Hindi भाग 148
736 : - कूट साक्षी नहीं होना चाहिए।
736 : - koot saakshee nahin hona chaahie.
737 : - झूठी गवाही देने वाला नरक में जाता है।
737 : - jhoothee gavaahee dene vaala narak mein jaata hai.
738 : - पक्ष अथवा विपक्ष में साक्षी देने वाला न तो किसी का भला करता है, न बुरा।
738 : - paksh athava vipaksh mein saakshee dene vaala na to kisee ka bhala karata hai, na bura.
739 : - व्यक्ति के मन में क्या है, यह उसके व्यवहार से प्रकट हो जाता है।
739 : - vyakti ke man mein kya hai, yah usake vyavahaar se prakat ho jaata hai.
740 : - पापी की आत्मा उसके पापों को प्रकट कर देती है।
740 : - paapee kee aatma usake paapon ko prakat kar detee hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

kya naam doon main

kya naam doon main

kya naam doon main apanee mohabbat ko.. ki ye tera siva kisee aur se hotee

नीच व्यक्ति से यह सीखना चाहिए || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 100

नीच व्यक्ति से यह सीखना चाहिए || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 100

Chaanaky Ke Anamol Vichaar 496 : - मलेच्छ अर्थात नीच व्यक्ति की भी यदि कोई

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 54

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 54

266 : - दुर्बल के आश्रय से दुःख ही होता है। 267 : - अग्नि

सज्जन की राय  || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 76

सज्जन की राय || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 76

Chanakya Neeti In Hindi 376 : - सज्जन की राय का उल्लंघन न करें। 376

अपमान का भय नहीं होता || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 92

अपमान का भय नहीं होता || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 92

chanakya niti for success in life in hindi 456 : - उपार्जित धन का त्याग

इन जगहों पर खाली हाथ नहीं जाना चाहिए || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 112

इन जगहों पर खाली हाथ नहीं जाना चाहिए || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 112

chanakya niti for success in life 556 : - राजा से बड़ा कोई देवता नहीं।