चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 135

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 135
671 : - दुर्वचनों से कुल का नाश हो जाता है।
671 : - durvachanon se kul ka naash ho jaata hai.
672 : - पुत्र के सुख से बढ़कर कोई दूसरा सुख नहीं है।
672 : - putr ke sukh se badhakar koee doosara sukh nahin hai.
673 : - विवाद के समय धर्म के अनुसार कार्य करना चाहिए।
673 : - vivaad ke samay dharm ke anusaar kaary karana chaahie.
674 : - प्रातःकाल ही दिन-भर के कार्यों के बारें में विचार कर लें।
674 : - praatahkaal hee din-bhar ke kaaryon ke baaren mein vichaar kar len.
675 : - विनाशकाल आने पर आदमी अनीति करने लगता है।
675 : - vinaashakaal aane par aadamee aneeti karane lagata hai.

Also, Read
Swami Vivekananda
Good Morning
Chanakya Niti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 5

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 5

chanakya video 21 :- अतिथि का सत्कार न करने वाला, थके-हारे को आश्रय न देने

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 37

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 37

181 : - दोषहीन कार्यों का होना दुर्लभ होता है। 182 : - किसी भी

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 53

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 53

261 : - बलवान से युद्ध करना हाथियों से पैदल सेना को लड़ाने के समान

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 130

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti Motivation भाग 130

Chanakya Niti for motivation 646 : - जो सुख मिला है, उसे न छोड़े। 646

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 2

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 2

6 :- बिना सत्य के सारा संसार व्यर्थ है. संसार में सब कुछ सत्य पर

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti in Hindi भाग 147

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti in Hindi भाग 147

731 : - तत्त्वों का ज्ञान ही शास्त्र का प्रयोजन है। 731 : - tattvon