चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 133

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 133
661 : - इन्द्रियों को वश में करना ही तप का सार है।
661 : - indriyon ko vash mein karana hee tap ka saar hai.
662 : - स्त्री के बंधन से छूटना अथवा मोक्ष पाना अत्यंत कठिन है।
662 : - stree ke bandhan se chhootana athava moksh paana atyant kathin hai.
663 : - स्त्री का नाम सभी अशुभ क्षेत्रों से जुड़ा हुआ है।
663 : - stree ka naam sabhee ashubh kshetron se juda hua hai.
664 : - अशुभ कार्य न चाहने वाले स्त्रियों में आसक्त नहीं होते।
664 : - ashubh kaary na chaahane vaale striyon mein aasakt nahin hote.
665 : - तीन वेदों ऋग, यजु व साम को जानने वाला ही यज्ञ के फल को जानता है।
665 : - teen vedon rg, yaju va saam ko jaanane vaala hee yagy ke phal ko jaanata hai.

Also, Read
Swami Vivekananda
Good Morning
Chanakya Niti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti in Hindi भाग 147

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti in Hindi भाग 147

731 : - तत्त्वों का ज्ञान ही शास्त्र का प्रयोजन है। 731 : - tattvon

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 14

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 14

chanakya video 66 : - जिस प्रकार अकेला चंद्रमा रात कि शोभा बढ़ा देता है,

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 64

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 64

Chaanaky Ke Anamol Vichaar 316 : - मनुष्य के कार्ये में आई विपति को कुशलता

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 134

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 134

666 : - स्वर्ग की प्राप्ति शाश्वत अर्थात सनातन नहीं होती। 666 : - svarg

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 34

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 34

166 : - आग सिर में स्थापित करने पर भी जलाती है। अर्थात दुष्ट व्यक्ति

पाप कर्म करने वाले को || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 77

पाप कर्म करने वाले को || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 77

Chanakya Neeti In Hindi 381 : - मछेरा जल में प्रवेश करके ही कुछ पाता