चाणक्य के आभूषण अनुसार क्या है ? || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 110

चाणक्य के आभूषण अनुसार क्या है ? || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 110

chanakya niti for success in life

546 : - सौंदर्य अलंकारों अर्थात आभूषणों से छिप जाता है।
546 : - saundary alankaaron arthaat aabhooshanon se chhip jaata hai.
547 : - गुरुजनों की माता का स्थान सर्वोच्च होता है।
547 : - gurujanon kee maata ka sthaan sarvochch hota hai.
548 : - प्रत्येक अवस्था में सर्वप्रथम माता का भरण-पोषण करना चाहिए।
548 : - pratyek avastha mein sarvapratham maata ka bharan-poshan karana chaahie.
549 : - स्त्री का आभूषण लज्जा है।
549 : - stree ka aabhooshan lajja hai.5
550 : - ब्राह्मणों का आभूषण वेद है।
50 : - braahmanon ka aabhooshan ved hai.

Also, Read
Swami Vivekananda
Good Morning
Chanakya Niti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

बुद्धिमान लोगों की 5 बातें  || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 65

बुद्धिमान लोगों की 5 बातें || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 65

Chaanaky Ke Anamol Vichaar 321 : - हे बुद्धिमान लोगों ! अपना धन उन्ही को

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 63

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 63

311 : - सिद्ध हुए कार्ये का प्रकाशन करना ही उचित कर्तव्य होना चाहिए। 312

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 6

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 6

chanakya video 26 : - कई तरह कि नेत्र हीनता होती है. कुछ जन्म से

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti भाग 139

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti भाग 139

Chanakay Niti 691 : - दिन में सोने से आयु कम होती है। 691 :

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 17

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 17

81 : - ब्राह्मण उदरपूर्ति होने पर, सज्जन पराई संपत्ति पर, मोर बादल गरजने पर

चाणक्य के अनुसार यह त्याग कर देना चाहिए। || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 114

चाणक्य के अनुसार यह त्याग कर देना चाहिए। || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 114

chanakya niti for success in life 566 : - पुत्र को सभी विद्याओं में क्रियाशील