जहाँ पाप होता है || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 88

जहाँ पाप होता है || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 88

chanakya niti for success in life in hindi

436 : - धर्म के द्वारा ही लोक विजय होती है।
436 : - dharm ke dvaara hee lok vijay hotee hai.
437 : - मृत्यु भी धरम पर चलने वाले व्यक्ति की रक्षा करती है।
437 : - mrtyu bhee dharam par chalane vaale vyakti kee raksha karatee hai.
438 : - जहाँ पाप होता है, वहां धर्म का अपमान होता है।
438 : - jahaan paap hota hai, vahaan dharm ka apamaan hota hai.
439 : - लोक-व्यवहार में कुशल व्यक्ति ही बुद्धिमान है।
439 : - lok-vyavahaar mein kushal vyakti hee buddhimaan hai.
440 : - सज्जन को बुरा आचरण नहीं करना चाहिए।
440 : - sajjan ko bura aacharan nahin karana chaahie.

Also, Read
Swami Vivekananda
Good Morning
Chanakya Niti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

कायर व्यक्ति को कार्य || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 68

कायर व्यक्ति को कार्य || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 68

chanakya niti for success in life 336 : - परीक्षा किये बिना कार्य करने से

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 2

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 2

6 :- बिना सत्य के सारा संसार व्यर्थ है. संसार में सब कुछ सत्य पर

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti भाग 150

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakay Niti भाग 150

746 : - राजा के दर्शन देने से प्रजा सुखी होती है। 746 : -

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 43

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 43

211 : - प्रकृति (सहज) रूप से प्रजा के संपन्न होने से नेताविहीन राज्य भी

पराई स्त्री से सम्भोग || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 116

पराई स्त्री से सम्भोग || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 116

576 : - एक ही गुरुकुल में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं का निकट संपर्क ब्रह्मचर्य को

चाणक्य के अनुसार यह त्याग कर देना चाहिए। || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 114

चाणक्य के अनुसार यह त्याग कर देना चाहिए। || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 114

chanakya niti for success in life 566 : - पुत्र को सभी विद्याओं में क्रियाशील