कभी विश्वास न करें || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 80

कभी विश्वास न करें  || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 80

Chanakya Neeti In Hindi

396 : - हाथ में आए शत्रु पर कभी विश्वास न करें।
396 : - haath mein aae shatru par kabhee vishvaas na karen.
397 : - स्वजनों की बुरी आदतों का समाधान करना चाहिए।
397 : - svajanon kee buree aadaton ka samaadhaan karana chaahie.
398 : - स्वजनों के अपमान से मनस्वी दुःखी होते है।
398 : - svajanon ke apamaan se manasvee duhkhee hote hai.
399 : - सदाचार से शत्रु पर विजय प्राप्त की जा सकती है।
399 : - sadaachaar se shatru par vijay praapt kee ja sakatee hai.
400 : - विकृतिप्रिय लोग नीचता का व्यवहार करते है।
400 : - vikrtipriy log neechata ka vyavahaar karate hai.

Also, Read
Swami Vivekananda
Good Morning
Chanakya Niti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 16

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 16

76 :- बिना मंत्री का राजा, नदी किनारे के वृक्ष और दूसरों के घर जाकर

आलसी व्यक्ति के बारे में क्या कहा गया है || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 101

आलसी व्यक्ति के बारे में क्या कहा गया है || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 101

Chaanaky Ke Anamol Vichaar 501 : - मर्यादा का कभी उल्लंघन न करें। 501 :

चाणक्य के अनुसार किस पर विश्वास न करें || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 109

चाणक्य के अनुसार किस पर विश्वास न करें || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 109

chanakya niti for success in life 541 : - वाहनों पर यात्रा करने वाले पैदल

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 30

चाणक्य के अनमोल विचार || Chaanaky Ke Anamol Vichaar – Part 30

156 : - आपातकाल में स्नेह करने वाला ही मित्र होता है। 157 : -

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 131

चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti Motivation भाग 131

chanakya niti for motivation 651 : - बिना अधिकार के किसी के घर में प्रवेश

कठोर दंड से सभी लोग || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 69

कठोर दंड से सभी लोग || चाणक्य नीति chanakya niti || भाग 69

chanakya niti for success in life 341 : - अपने स्वामी के स्वभाव को जानकार